BREAKING NEWS -
Search

पेन की मदद से भी होगा कैंसर का इलाज

आजकल की भाग-दौड़ भरी जिंदगी में तनाव और लाइफस्टाइल बदलता जा रहा है। तनाव होने के साथ कई बुरी आदतें भी जीवन में शामिल हो जाती है। कैंसर एक खतरनाक और जानलेवा बीमारी है। वैज्ञानिकों ने इस जानलेवा बीमारी से बचाने के लिए एक ऐसी खोज की है जिसे सुनकर आप भी हैरान हो जाएंगे।

अब कैंसर का इलाज दवाओं के साथ पेन की मदद से भी होगा।

जी हां, चौकिये नहीं वैज्ञानिकों ने इस बीमारी से लड़ने के लिए एक ऐसा पेन बनाया है जो सिर्फ 10 सेकेंड में कैंसर के लक्षणों को पहचान सकता है।

टेक्सस यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिकों के मुताबिक उन्होंने एक ऐसा डिवाइस बनाया है जो कि दस सेकेंड में कैंसर टिश्यूस को पहचान लेगा।

साइंस ट्रांस्लेशनल मेडिसिन में प्रकाशित रिपोर्ट में इस डिवाइस के टेस्ट को 96 प्रतिशत सही बताया है।

इस पेन को उस जगह रखा जाता है जहां कैंसर होने की संभावना होती है, उस जगह पेन से छोटी-छोटी बूंदे निकलने लगती है।

इतना ही नहीं बल्कि जीवित कोशिकाओं के अंदर मौजूद रासायनिक पानी की बूंद की तरफ जाने लगता है।

इस पेन की मदद से रसायनिक फिंगरप्रिंट तैयार हो जाता है जिसकी मदद से डॉक्टर पहचान पाते है की क्या वाकई टिश्यू में कैंसर है या नहीं।

सामान्य और कैंसर वाले टिश्यू के बीच अंतर् कर पाना आजकल डॉक्टरों के लिए मुश्किल है और कसी चुनौती से कम भी नहीं है।

इस तकनीक का परीक्षण 253 सैम्पल पर किया गया। अगले साल तक ये डिवाइस कैंसर का पता लगाने के लिए डॉक्टरों द्वारा इस्तेमाल किया जा सकता है।

इस पेन के ज़रिए 1.5 मिलिमीटर तक छोटा टिश्यू की पहचान की जा सकती है। इस पेन को और बेहतर बनाने के लिए प्रयास किये जा रहे है।

डॉ. एबरलिन ने कहा, इस पेन को कामयाब होने के सामने सिर्फ एक परेशानी है रही है। पेन कम महंगा है लेकिन इसके साथ लगने वाले स्पेकट्रोमीटर की कीमत ज्यादा है। हालांकि हम छोटा और आसानी से इस्तेमाल हो जाने वाला स्पेक्ट्रोमीटर बनाने की कोशिश कर रहे हैं।’

बच्चों में कैंसर को रोकने के लिए कुछ सुझाव:

  • रसायनों और कीटनाशकों के जोखिम से बचें। यह गर्भवती माताओं के लिए विशेष रूप से जरूरी है।
  • फलों और सब्जियों का सेवन करें और नियमित रूप से व्यायाम करें।
  • धूम्रपान और मदिरापान से दूर रहें।

 


TAG


>