BREAKING NEWS -
Search

कोविड- 19 वायरस के चलते BCCI ने रद्द की आईपीएल फ्रैंचाइजियों के साथ टेलिकॉन्फ्रेंस बैठक

कोरोना वायरस (कोविड- 19) महामारी के चलते आईपीएल को पहले ही 15 अप्रैल तक स्थगित कर दिया गया है। आईपीएल पर आगे की योजनाओं के लिए बीसीसीआई को इस लीग की सभी फैंचाइजियों के साथ मंगलवार को टेलिकॉन्फ्रेंस पर मीटिंग करनी थी लेकिन बीसीसीआई ने इसे रद्द कर दिया है।

इस मीटिंग को रद्द करने के बाद अब यह अटकलें तेज हो गई हैं कि कहीं इस साल इस पेशेवर लीग का आयोजन रद्द तो नहीं हो जाएगा। भारत ने महामारी बने इस वायरस को नियंत्रण में रखने के मकसद से पूरे देश में 31 मार्च तक लॉकडाउन कर दिया है। दुनिया भर में इस घातक वायरस संक्रमण से अब तक 16,000 से ज्यादा मौतें हो चुकी हैं, जबकि भारत में भी करीब 500 (498) मामले सामने आ चुके हैं और नौ लोग मारे जा चुके हैं।

किंग्स XI पंजाब के सह-मालिक नेस वाडिया से जब इस मुद्दे पर बात की गई तो उन्होंने कहा, ‘मानवता पहले है, इसके बाद कुछ भी दूसरे नंबर पर आता है। अभी तक स्थिति में कोई सुधारन नहीं हुआ है तो ऐसे में इसका कोई मतलब नहीं है कि अभी इस (IPL) पर बात की जाए। अगर आईपीएल नहीं होता है तो न सही।’

आईपीएल की एक और अन्य फ्रैंचाइजी मालिक ने नाम सामने न लाने की बात कहकर कहा, ‘इस वक्त इस मसले पर कोई भी बात करने कोई अर्थ नहीं है। पूरा देश लॉकडाउन में है। हमें अभी उन मामलों से निपटना चाहिए जो आईपीएल से भी बहुत ज्यादा जरूरी हैं।’

देशी-विदेशी सितारों से भरी 8 टीमों वाली इस लीग को पहले 29 मार्च से शुरू होना था। इस लीग का पहला मैच मुंबई में मुंबई इंडियंस और चेन्नै सुपर किंग्स के बीच होना था। लेकिन कोविड- 19 के वायरस का प्रकोप बढ़ने के बाद इसे 15 अप्रैल तक टाल दिया गया।

कोविड- 19 पर नियंत्रण पाने के मकसद से सरकार जो कदम उठा रही है। नेस वाडिया ने उनकी तारीफ की है। वाडिया ने कहा, ‘सरकार ने इस पर निर्णायक कदम उठाए हैं। हम अकसर सरकार की आलोचना करते हैं लेकिन सरकार ने समय पर आगे बढ़कर कोविड- 19 के लिए जो कदम उठाए हैं हमें उनकी सराहना भी करनी चाहिए। भारत जैसे बढ़े देश में सभी फ्लाइट्स रद्द कर दी गई हैं यह बहुत बड़ा और सकारात्मक कदम है।’

उन्होंने कहा, ‘यह तीसरे विश्व युद्ध जैसी स्थिति है, जिसमें हम इतने सारे लोगों की मदद के लिए लड़ रहे हैं।’ हालांकि बीसीसीआई अभी आईपीएल रद्द करने जैसे मुद्दे पर संभलकर चल रहा है। उसे उम्मीद है कि चीजों में सुधार आएगा, तो फिर इस पर सही फैसला लिया जा सकता है।

इस बीच बोर्ड के एक अधिकारी ने कहा, ‘अगर ओलिंपिक जैसे खेल एक साल के लिए स्थगित हो सकते हैं, तो आईपीएल उसके सामने बहुत छोटी चीज है। इस समय सरकार विदेशी नागरिकों को वीजा देने पर सोच भी नहीं रही है तो हम आईपीएल के आयोजन पर कैसे कुछ सोच लें।’




>