BREAKING NEWS -
Search

छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव 2018: 20 अक्टूबर को जारी होगी भाजपा की पहली लिस्ट

छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव 2018 की तारीखों का ऐलान हो गया है। छत्तीसगढ़ में पहले चरण का मतदान 12 नवंबर 2018 को होंगे। इसी को ध्यान में रखते हुए छत्तीसगढ़ के भाजपा प्रत्याशी तय करने के लिए केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक 20 तारीख को दिल्ली में रखी गई है। माना जा रहा है कि इस बैठक में प्रत्याशियों के नाम अंतिम रूप से तय कर दिए जाएंगे।

इस बैठक में मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह राष्ट्रीय सह संगठन मंत्री सौदान सिंह, प्रदेश प्रभारी डॉ.अनिल जैन सहित अन्य शामिल होंगे। इनके अलावा बैठक में पार्टी की राष्ट्रीय महामंत्री सरोज पांडेय व राष्ट्रीय सचिव रामविचार नेताम को भी आमंत्रित किया गया है। वहीं राहुल गांधी के छत्तीसगढ़ दौरे पर सीएम रमन सिंह ने कहा कि राहुल गांधी का स्वागत है, लेकिन जिन-जिन प्रदेशों में उन्होंने ज्यादा सभाएं की वहां कांग्रेस को हार मिली।

इधर, रायपुर में बुधवार को मुख्यमंत्री निवास में टिकट को लेकर एक अत्यंत महत्वूर्ण बैठक हुई जिसमें मुख्यमंत्री डॉ.रमन के अलावा सौदान सिंह तथा डॉ.अनिल जैन शामिल हुए थे। उच्च पदस्थ सूत्रों के अनुसार यह बैठक करीब सवा दो घंटे तक चली। बताया गया है कि इस बैठक में टिकट के दावेदारों में शामिल लोगों के अलावा ऐसे नामों को भी दावेदारों में शामिल कर विचार किया गया जो पहले दावेदारी में नहीं आ पाए थे। माना जा रहा है कि इस बैठक में विस्तृत रूप से दावेदारों के बारे में विचार किया गया।

सीएम तीन रहेंगे

मुख्यमंत्री 20 तारीख को दिल्ली में होने वाली बैठक में शामिल होने के लिए 18 तारीख की दोपहर दिल्ली के लिए रवाना होंगे। इस बैठक से पहले वे केंद्रीय पदाधिकारियों के साथ मंथन करेंगे। बैठक में शामिल होने के बाद वे 21 तारीख को वापस लौटेंगे। अनुमान है कि संसदीय बोर्ड की बैठक में छत्तीसगढ़ के भाजपा प्रत्याशियों की सूची को अंतिम रूप दिया जाएगा। संभावना है कि 20 या 21 तारीख को प्रत्याशियों की सूची आधिकारिक रूप से जारी कर दी जाएगी।

सरोज पांडे व रामविचार को भी बुलावा

सूत्रों के अनुसार दिल्ली में होने वाली बैठक में पार्टी की राष्ट्रीय महामंत्री सरोज पांडेय के साथ राष्ट्रीय सचिव रामविचार नेताम को भी बुलाया गया है। ऐसी चर्चा भी थी कि बैठक में पार्टी के प्रदेश संगठन महामंत्री पवन साय व प्रदेश अध्यक्ष धरमलाल कौशिक भी शामिल हो सकते हैं। लेकिन हरिभूमि से चर्चा में श्री कौशिक ने कहा है कि यह बैठक संसदीय बोर्ड की है। वे इस बोर्ड में शामिल नहीं हैं, इसलिए वे बैठक में शामिल नहीं हो रहे हैं।




>