BREAKING NEWS -
Search

कांग्रेस का स्‍मृति ईरानी पलटवार, कहा नफरत की आग में जल रही है बीजेपी

नई दिल्ली : कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी के खिलाफ भ्रष्‍टाचार के स्‍मृति ईरानी के आरोपों पर पार्टी ने पलटवार किया है। कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी ने जहां अपने जीजा रॉबर्ट वाड्रा के बारे में पूछे गए एक सवाल के जवाब में कहा कि कानून सभी पर समान रूप से लागू होना चाहिए, न कि चुनिंदा तरीके से, वहीं पार्टी के वरिष्‍ठ नेता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने राहुल गांधी पर भ्रष्‍टाचार के आरोप लगाने वाली बीजेपी नेता स्‍मृति ईरानी को आड़े हाथों लिया।

उन्‍होंने कहा कि जब पिछले पांच वर्षों से बीजेपी की सरकार केंद्र की सत्‍ता में है तो उसने अब तक इसकी जांच क्यों नहीं करवाई? उन्‍होंने यह भी कहा कि चुनाव में हार को नजदीक देखकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी सन्तुलन खो बैठे हैं और इसलिए बिना सिर-पैर के आरोप लगा रहे हैं। उन्‍होंने तंज भरे लहजे में कहा, ‘किसी अयोग्य और अशिक्षित व्यक्ति के मंत्री बनने पर यही सब होता है।’

उनका यह बयान स्‍मृति ईरानी द्वारा हरियाणा में जमीन खरीद के एक मामले में एचएल पाहवा नाम के एक शख्‍स के यहां प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की छापेमारी के दौरान ‘राहुल गांधी के साथ लेनदेन’ से संबंधित दस्तावेज मिलने का हवाला देते हुए कांग्रेस अध्‍यक्ष पर भ्रष्‍टाचार का आरोप लगाए जाने के बाद आया है। बीजेपी नेता ने यह भी कहा कि देश में ‘संस्थागत भ्रष्टाचार’ कांग्रेस की देन है और रॉबर्ट वाड्रा के साथ राहुल गांधी भी ‘पारिवारिक भ्रष्‍टाचार’ में लिप्‍त हैं।

स्‍मृति के आरोपों को ‘बिना सिर-पैर का’ करार देते हुए सुरजेवाला ने कहा, ‘आपकी पांच साल से सरकार है। आपने अब तक जांच क्यों नहीं की? सारी जांच एजेंसियां उनके पास हैं तो फिर 2019 में आरोप लगाने के लिए इंतजार क्यों कर रहे थे?’ उन्‍होंने यह भी कहा कि मध्‍य प्रदेश, राजस्‍थान और छत्‍तीसगढ़ के विधानसभा चुनावों में जिस तरह कांग्रेस की जीत हुई, उसी तरह 2019 के आम चुनाव में भी पार्टी जीतेगी और बीजेपी की हार होगी।

उन्‍होंने कहा, ‘हार नजदीक देखकर मोदी जी लड़खड़ा रहे हैं, भटका भी रहे हैं। लेकिन 2019 में भी वह तीन प्रान्तों की तरह हारने वाले हैं… मुझे लगता है कि राहुल गांधी से नफरत और बदले की आग में मोदी जी और स्मृति ईरानी जी इतने अंधे हो गए हैं कि वे सन्तुलन खो बैठे हैं और रोजाना बेसिर-पैर के आरोप लगा रहे हैं।’

उधर, चेन्‍नई में एक सवाल के जवाब में राहुल गांधी ने कहा अगर उनके जीजा रॉबर्ट वाड्रा की जांच हो सकती है तो राफेल सौदे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कथित भूमिका की भी जांच होनी चाहिए। यहां छात्रों के साथ अनौपचारिक बातचीत में वाड्रा के खिलाफ विदेश में संपत्ति खरीदने को लेकर धनशोधन और राजस्थान के बीकानेर में जमीन खरीद के मामले की जांच को लेकर पूछे गए एक सवाल के जवाब में उन्‍होंने कहा, ‘मैं यह कहने वाला पहला शख्स होऊंगा… रॉबर्ट वाड्रा की जांच करें, लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की भी जांच करें।’




>