BREAKING NEWS -
Search

सिनेमा घरों में 19 जुलाई को रिलीज होगी फिल्म पेनाल्टी

शुभम  सिंह द्वारा निर्देश फिल्म पेनाल्टी को सेंसर बोर्ड से  ना केवल यू सर्टिफिकेट प्राप्त हुआ है बल्कि सेंसर बोर्ड से काफी प्रशंसा भी मिली है। पेनाल्टी देश के सभी सिनेमा घरों में 19 जुलाई को रिलीज होगी। फिल्म पेनाल्टी फुटबाल पर केंद्रित है जो कि नस्ल भेद  को खत्म करने का एक प्रयास है।

अब फिल्म में के के मेनन , मनजोत सिंग्घ , लुक्रम स्मिल बिजोऊ थनांगजम और शशांक अरोरा जैसे बहुमुखी अभिनेता नजर आयेंगे।
फिल्म  निर्देशक  शुभम सिंह जो  फिल्म पेनाल्टी से अपना डेब्यू कर रहे हैं बताते हैं कि यह फिल्म भारत में अलग अलग जगहों पर  हो रहे भिन्न भिन्न प्रकार  के  नस्ल भेद  पर आधारित है। शुभम सिंह कहते हैं कि भारत अनेकता में एकता वाला देश है पर अगर हम वास्तविक जीवन कि बात करें तो नस्ल भेद का प्रकोप हर जगह देखने को मिलता है ।

फिल्म निर्देशक शुभम ने ये भी बताया कि अपने ग्रेजुएशन के समय में मैंने ऐसी कई घटनाएं अनुभव की हैं जहां स्टूडेंट्स ने नस्ल भेद  से तंग आकर आत्महत्या का रास्ता चुना है। तभी से  मैं इस मुद्दे पर फिल्म बनाना चाहता था। भारी संख्या तक नस्ल भेद को रोकने का संदेश पहुंचाने के लिए फुटबॉल  सिर्फ एक ज़रिए है इस फिल्म कि कहानी नस्ल भेद को रोकने और जड़ से मिटाने की है। रुद्राक्ष प्रोडक्शन्स के बैनर के तहत इस फिल्म के  निर्माता नीलेश सखियां , ऋतु श्रीवास्तव एवं आदित्य श्रीवास्तव हैं। यह फिल्म 19 जुलाई 2019 को देश भर में रिलीज करने के लिए पूरी तरह तैयार हैं ।

फिल्म का ट्रेलर यहां देखे

 

आप को बताते चले कि खेल और खिलाड़ी के संघर्ष को चित्रित करती फ़िल्म ‘पेनल्टी’ का पहला टीजर 24 जून को रिलीज किया गया था।  फिल्म में के के मेनन, मनजोत सिंह, शशांक अरोड़ा, आकाश दबाड़े, सृष्टी जैन , बिजोथो अंग्जाम , अश्विनी कौशल, मोहित नैन, राघव झिंगरन, लुकराम इस्मिल जैसे अद्भुत प्रतिभासंपन्न कलाकारों ने अभिनय किया है। पेनाल्टी की कहानी उत्तर-पूर्व भारतीय फुटबॉल खिलाड़ी इक्कीस वर्षीय लुकराम के इर्द-गिर्द घूमती है, जो जीवन में आगे बढ़ने और सभी बाधाओं के बावजूद अपने सपनों को हासिल करने के लिए हर तरह के नकारात्मक संघर्षों, नस्लीय भेदभाव आदि से लड़ रहा है।

फिल्म धीरे-धीरे भारत में आंतरिक रूप से प्रचलित नस्लीय भेदभाव की एक विशाल परिभाषा बताती है और जैसे-जैसे यह चरमोत्कर्ष की ओर बढ़ती है, यह उन घटनाओं के विभिन्न अप्रत्याशित मोड़ से गुजरती है। अंततः यह फिल्म ‘एक रूप में भारत’ का महत्वपूर्ण संदेश दे जाती है। इस फिल्म का निर्माण रुद्राक्ष फिल्म्स और तेनज़ानाइट पिक्चर्स के बैनर तले हुआ है। शुभम सिंह द्वारा निर्देशित पेनाल्टी के निर्माता नीलेश सखिया, रितु श्रीवास्तव और आदित्य श्रीवास्तव हैं और संगीतकार सिद्धांत माधव ने बखूबी फ़िल्म के गीतों को लयबद्ध किया है।




>