पहली बार भारत को मिली एशियन वेटलिफ्टिंग चैंपियनशिप की मेजबानी, इस साल होगा आयोजन

भारत पहली बार प्रतिष्ठित एशियाई भारोत्तोलन चैंपियनशिप की मेजबानी करेगा जोकि 2020 में होने वाले टोक्यो ओलंपिक के लिए क्वालीफाइंग टूर्नामेंट भी होगा। इस टूर्नामेंट का आयोजन 2019 में होगा।  चैंपियनशिप की मेजबानी करने वाले शहर और इसके तारीखों की घोषणा बाद में की जाएगी।  भारत को इस टूर्नामेंट की मेजबानी 22 अप्रैल को उज्बेकिस्तान में हुई एशियाई भारोत्तोलन महासंघ की कार्यकारी बोर्ड मीटिंग के बाद दी गई।  भारतीय भारोत्तोलन संघ के महासचिव सहदेव यादव ने कहा, ‘एशियाई भारोत्तोलन महासंघ ने कार्यकारी बोर्ड की बैठक के बाद भारत को एशियाई सीनियर भारोत्तोलन चैम्पियनशिप (पुरुष और महिला) की मेजबानी देनी की पुष्टि की है।’

उन्होंने बताया, ‘यह 2020 में होने वाले ओलंपिक क्वालीफिकेशन प्रतियोगिता भी है जिसमें 300 से ज्यादा भारोत्तोलक अपने कौशल का प्रदर्शन करेंगे। इस प्रतिष्ठित प्रतियोगिता में ओलंपिक और एशियाई खेलों के कई चैम्पियन भाग लेंगे। यह पहली बार है जब सीनियर एशियाई (पुरुष और महिला) भारोत्तोलन  चैंपियनशिप की मेजबानी भारत करेगा।’ भारत में हाल के वर्षों में इस खेल की लोकप्रियता बढ़ रही है जिसे देखते हुए उसे यह मेजबानी दी गई है।

 

मौजूदा विश्व चैम्पियन मीराबाई चानू ( महिला 48 किग्रा’) और कुछ अन्य विश्वस्तरीय भारोत्तोलकों के कारण पिछले कुछ वर्षों में खेल की लोकप्रियता बढ़ी है।  भारत अगर इस  चैंपियनशिप का आयोजन सफलतापूर्वक करता है तो इसकी लोकप्रियता की दिशा में एक और सकारात्मक कदम होगा। इस साल एशियाई खेलों के कारण इस  चैंपियनशिप का आयोजन नहीं होगा। एशियाई खेलों वाले साल उसे ही एशियाई भारोत्तोलक चैम्पियन माना जाता है।




>