अब एशियन गेम्स में छाने की तैयारी कर रहें भारतीय बॉक्सर

भारतीय बॉक्सरों का दमख़म कॉमनवेल्थ गेम्स 2018 में बख़ूबी देखने को मिला। ये सिलसिला आगे एशियन गेम्स में भी बरकरार रहे इसके लिए मुक्केबाज़ों ने अभी से अपनी तैयारी को अंजाम देना शुरू कर दिया है और इस कड़ी में फेडरेशन भी उनके साथ है।

वैसे कॉमनवेल्थ में फतेह का झंडा गाड़ने के बाद अब हर बॉक्सर की नज़र एशियन गेम्स में छाने की है,तैयारी का दौर रूके नहीं बल्कि एक कदम आगे रहे इसके लिए फेडरेशन ने अमेरिका स्थित माइकल जॉनसन ट्रेनिंग सेंटर में मुक्केबाज़ों को ट्रेनड करने का फैसला लिया है।
एशियन गेम्स की बात करे तो पिछली बार भारत 57 पदक के साथ 8वें स्थान पर रहा था,जिसमें 11 गोल्ड थे,लेकिन मुक्केबाज़ी से सिर्फ एक गोल्ड था, निश्चित रूप से इस प्रदर्शन को सुधारने की बड़ी चुनौती इस बार सामने होगी जिसके लिए एक बार फिर पदक का रास्ता इन्ही मुक्केबाज़ों के हुनर से निकलकर सामने आएगा।




>