किम जोग ने अमेरिका को बनाया निशाना, कहा ‘पूरा अमेरिका हमारे परमाणु हथियारों के दायरे में हैं

साल 2017 में अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप और नॉर्थ कोरिया के तानाशाह किम जोंग ने एक दूसरे को नष्ट करने की कई बार धमकी दीं। किम ने नए साल की शुरुआत पर भी अमेरिका को बड़ी धमकी दी है।

नए साल पर देश को संबोधित करते हुए किम जोग ने कहा कि वह अमेरिका के किसी भी हिस्से को निशाना बना सकते हैं। उन्होंने कहा, ‘पूरा अमेरिका हमारे परमाणु हथियारों के दायरे में हैं और न्यूक्लियर बटन हमेशा मेरे डेस्क पर होता है। यह धमकी नहीं, सच्चाई है।’

किम के मुताबिक अमेरिका अब नॉर्थ कोरिया के खिलाफ कभी युद्ध नहीं छेड़ सकता। किम ने कहा, ‘हमने अमेरिका के सभी हिस्सों पर परमाणु से हमले की क्षमता विकसित कर ली है।’ इस दौरान तानाशाह ने साउथ कोरिया को भी संदेश दिया और कहा कि बातचीत के रास्ते खुले हुए हैं और प्रायद्वीप से सैन्य तनाव कम करना जरूरी है। साउथ कोरिया में फरवरी में होने जा रहे विंटर ओलिंपिक्स में नॉर्थ कोरिया के खिलाड़ियों को भेजने पर किम ने कहा, ‘यह संभव है कि दोनों कोरिया के अधिकारी जल्द मुलाकात करेंगे और इस पर विचार करेंगे।’ उन्होंने उम्मीद जताई कि यह आयोजन सफल होगा। किम ने कहा कि साउथ कोरिया में विंटर ओलिंपिक्स कोरियन देश की स्थिति को प्रदर्शित करने का अच्छा मौका है।

किम ने कहा कि प्योंगयांग और सियोल को अपने रिश्ते में सुधार करना चाहिए। साथ ही यह भी कहा कि नॉर्थ कोरिया परमाणु हथियारों का इस्तेमाल तभी करेगा जब उसकी सुरक्षा को खतरा होगा। किम जोंग उन ने अपने परमाणु कार्यक्रम को आगे बढ़ाने का संकेत देते हुए देश से बड़े पैमाने पर परमाणु हथियारों और मिसाइलों का उत्पादन करने की अपील की। उत्तर कोरिया ने उसके परमाणु कार्यक्रमों को लेकर विश्वस्तर पर तनाव और अंतरराष्ट्रीय प्रतिबंधों के बाजवूद वर्ष 2017 में नाटकीय रूप से अपने परमाणु कार्यक्रम को लगातार बढ़ाया। किम ने कहा, ‘हमें बड़े पैमाने पर परमाणु हथियार और मिसाइलों का उत्पादन कर उनकी तैनाती तेज करनी चाहिए।’ उत्तर कोरिया ने कहा कि परमाणु कार्यक्रम अमेरिका की मुख्य भूमि को निशाना बनाने के लिए डिजाइन किया गया है।




>