BREAKING NEWS -
Search

आसाराम को मिली उम्रकैद की सजा, अन्य 2 आरोपी को मिली 20-20 साल की सजा

आज जोधपुर कोर्ट आसाराम रेप केस पर फैसला सुनाते हुए आसाराम सहित 3 लोगों को दोषी पाया है। जज मधुसूदन शर्मा ने आसाराम को उम्रकैद की सजा सुना दी है। इसके अलावा अन्य दो आरोपी को 20-20 साल की सजा सुनाई है।

आसाराम के साथ शरतचंद्र और शिल्पी को भी दोषी पाएगा। शिल्पी आसाराम के लिए लड़कियों का चुनाव करती थी। शरतचंद्र शिल्पी और आसाराम के लिए सारी व्यवस्थाएं करता था।

इसके अलावा जज ने दो अन्य आरोपी शिवा और प्रकाश को बरी कर दिया है। इन दोनों ने पीड़ित लड़की को कार में लेकर आने-जाने का काम किया था, लेकिन अपराधिक मानसिकता न होने की वजह से बरी किया।

इन धाराओं के तहत हुई सजा

भारतीय दंड संहिता 506 (जान से मारने की धमकी देना), 509/34 (महिला का अपमान), 370A(नाबालिग का अपहरण) और 375C (बलात्कार) और POCSO Act (हाल ही में हुआ बदलाव) सहित 10 धाराओं के तहत आसाराम दोषी करार दिया गया है।
इन प्रावधानों के तहत 3 साल से लेकर 10 तक की सजा है। बलात्कार के मामले में 10 साल की सजा से लकेर उम्रकैद की सजा का प्रावधान है।
जोधपुर में धारा 144

फैसले के मद्देनजर पूरे क्षेत्र में धारा 144 लागू की गई। क्षेत्र में भारी संख्या में पुलिस बल को भी तैनात किया गया है। आसाराम को जेल से बाहर लेकर नहीं जाया जाएगा। जोधपुर सेंट्रल जेल में कोर्ट रूम तैयार किया गया है।

इस दिन हुई थी घटना

आसाराम पर उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर की एक नाबालिग से बलात्कार करने का आरोप है। यह लड़की मध्यप्रदेश के छिंदवाड़ा में आसाराम के आश्रम में पढ़ाई कर रही थी।

पीड़िता का आरोप है कि आसाराम ने जोधपुर के निकट मनई आश्रम में उसे बुलाया था और 15 अगस्त 2013 में उसके साथ दुष्कर्म किया था।




>