BREAKING NEWS -
Search

TROLL हुई प्रियंका चोपड़ा, दिया ये करारा जवाब

एक्टिंग, सिंगिंग के साथ प्रोडक्शन में अपनी पहचान बना चुकी बॉलीवुड एक्ट्रेस प्रियंका चोपड़ा सोशल वर्क करने में आगे हैं। अपने व्यस्त जीवन से समय निकाल कर कई सोशल प्रोग्राम्स में हिस्सा ले चुकी है। बता दें कि पिछले 12 सालों से प्रियंका यूनिसेफ से जुड़ी है।  यूनिसेफ की ग्लोबल गुडविल एंबेसडर प्रियंका चोपड़ा इंस्टाग्राम पर शेयर किए वीडियो की वजह से यूजर्स के निशाने पर आ गई हैं।

प्रियंका चोपड़ा यूनिसेफ प्रोग्राम के तहत जॉर्डन में सीरियन बच्चों को शिक्षा के प्रति जागरुक करने के लिए पहुंची थीं। जहां उन्होंने अध्यापक के रूप में बच्चों के साथ कुछ वक्त बिताया और अंग्रेजी से जुड़े शब्द बच्चों को बताए इसके अलावा बच्चों के साथ अलग अलग खेल खेलते दिखी। ।

This is Ammar(5), Ayat(8), Sulaiman (5 months) Wardshan(9) and they have an elder brother Saleh(10) who works at a grocery store to help supplement the family income, for only 2 Jordanian Dinar (that’s less than $3 USD.) Their father is a day laborer. Sulaiman needs a 2nd surgery because he has a clot in his nose. The family moved from Syria to Jordan 5 years ago. When I asked their mother what would be her wish…considering the war hasn’t ended, she said “if we can’t go home all I want is for my kids to get an education so they can fend for themselves when they are older and help rebuild Syria. We are blessed, we have enough to survive…others have much less.” They didn’t even have furniture in their home. The largesse of heart and compassion she had through her tears moved me to pieces. PLS GO TO www.unicef.org and DONATE whatever you can… let’s make this a collective #MissionForChildren #ChildrenUprooted #PCInJordan #ChildrenOfSyria @unicef

A post shared by Priyanka Chopra (@priyankachopra) on

इसका वीडियो बॉलीवुड एक्ट्रेस ने इंस्टाग्राम पर शेयर किया। जिसपर यूजर्स ने उनके दोहरे रवैए के लिए उनपर ताना मारा। एक यूजर्स ने लिखा कि प्रियंका ये सब भारत के ग्रामीण इलाकों में करतीं जहां कुपोषित बच्चे भोजन का इंतजार कर रहे हैं। जिसपर प्रियंका ने शख्स को करारा जबाव देते हुए कहा,”मैंने यूनिसेफ के साथ 12 साल भारत में काम किया है और  जॉर्डन की तरह कई इलाकों में जाकर भारतीय बच्चों से मिली हूं।

निर्माता-निर्देश रवींद्र गौतम ने प्रियंका से पूछा कि क्यों उन्होंने पहले अपने देश के लोगों की मदद नहीं की? जिसका जवाब देते हुए प्रियंका पूछती हैं कि आपने क्या किया हैं? एक बच्चे की समस्या दूसरे बच्चें की समस्या से कम महत्वपूर्ण क्यों है?

गौरतलब है कि साल 2011 में सीरियन गृहयुद्ध के बाद से वहां के हालात अभी तक सामान्य नहीं हो पाए उस समय हुए गृहयुद्ध में हजारों परिवारों की हत्या कर दी गई। सैकड़ों परिवारों को अपना घर छोड़ना पड़ा। जान बचाकर भागे ये लोग अब जॉर्डन की तरह दूसरे देशों में प्रवासी लोगों की जिंदगी गुजार रहे हैं।

जानकारी के लिए बता दें कि वर्तमान में यूनिसेफ ग्लोबल गुडविल एंबेसडर प्रियंका चोपड़ा चाइल्ड राइट्स के लिए काम कर रही हैं। कई सारे अवार्ड्स जीत चुकीं प्रियंका ने अमेरिकी टीवी शो क्वांटिको से काफी शोहरत पाई और हाल के दिनों आई उनकी उनकी पहली हॉलीवुड फिल्म बेवॉच ने दुनियाभर में धमाल मचा दिया।

 




>