BREAKING NEWS -
Search

मुलायाम सिंह ने कहा मेरी वजह से पार्टी मुकाम पर है,विधायक दल तय करेगा सीएम

समाजवादी पार्टी प्रमुख मुलायम सिंह यादव ने लखनऊ में प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित करते हुए कहा कि उनके परिवार पर जनता को पूरा भरोसा है। उन्होंन कहा, ‘मेरी वजह से पार्टी मुकाम पर पहुंची है। मेरे बिना कभी सपा की सरकार नहीं बन सकती थी।’ मुलायम सिंह ने यह भी कहा कि छोटी सी पार्टी बना कर उन्होंने शुरूआत की थी. इसके बाद ऐसा समय आया कि बिना उनके कोई सरकार ही नहीं बनती थी. आज भी लोगों को समाजवादी पार्टी पर भरोसा है. इसके साथ ही उनके परिवार पर भी लोगों को भरोसा है. उन्होंने कहा कि वे अपना काम अच्छे से कर रहे हैं.

मुलायम सिंह ने कहा कि उनकी पार्टी और सरकार में किसी तरह का कोई झगड़ा नहीं है। हालांकि इंटरव्यू में अखिलेश यादव ने साफ कहा था कि अगर उन्हें अकेले भी प्रचार करना पड़ा तो वह पीछे नहीं हटेंगे। अखिलेश के इस बयान के बाद यह साफ हो गया कि सपा परिवार में पार्टी और सरकार पर नियंत्रण को लेकर चल रही लड़ाई अभी तक नहीं थमी है। मुलायम सिंह यादव के परिवार में सरकार और पार्टी पर नियंत्रण को लेकर लड़ाई चल रही है।

मुलायम सिंह यादव ने चुनाव में अखिलेश के सीएम चेहरा होने के एक सवाल के जवाब में यह कह कर कि मुख्यमंत्री चुनाव के बाद तय होगा, अपना सख्त रुख साफ कर दिया. मुलायम का यह जवाब इसलिए चौंकाने वाला था क्योंकि, इसके पहले कई दफा विरोध में चल रहे चाचा शिवपाल यादव तक ने कहा था कि मुख्यमंत्री का चेहरा अखिलेश ही होंगे. लेकिन, मुलायम सिंह ने दो-टूक कहा कि पार्टी की जीत के बाद समाजवादी पार्टी के विधायक तय करेंगे कि सीएम कौन होगा.

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव 2017 विधानसभा चुनावों की तैयारी में जुट गए हैं। अखिलेश यादव ने कहा है कि वो बिना किसी का इंतज़ार किए अपने दम पर चुनाव प्रचार करेंगे।

एक इंटरव्यू में अखिलेश यादव ने कहा, ‘बचपन में मेरा नाम मुझे ख़ुद रखना पड़ा, इसी तरह मुझे लगता है कि मुझे बिना किसी का इंतज़ार किए चुनाव अभियान ख़ुद ही शुरु कर देना चाहिए।’

उन्होंने कहा कि मुझे किनारे किया जा सकता है लेकिन हराया नहीं जा सकता। वहीं मुलायम सिंह यादव और शिवपाल सिंह से संबंधों पर सवाल पूछे जाने पर अखिलेश ने कहा कि, परिवार में सब ठीक चल रहा है, नेता जी मेरे पिता हैं और शिवपाल मेरे चाचा हैं। ये कभी बदल नहीं सकता, चाहे जो हो जाए।’वहीं सीएम दफ्तर में दुबारा वापसी पर उन्होंने विश्वास दिखाया।

2017 के यूपी विधानसभा चुनावों पर बात करते हुए उन्होंने कहा कि मैं गर्वान्वित नहीं हूँ। लेकिन, जैसे एक सफल बल्लेबाज जिसके बल्ले से रन लगातार निकलते हैं और रिकॉर्ड बनते रहते हैं, मेरे अभूतपूर्व विकास कामों से ही सत्ता में मेरी वापसी होगी।

मीडिया ने जब मुलायम सिंह यादव से ट्रिपल तलाक को लेकर चल रही बहस के बारे में उनकी राय पूछी तो उन्होंने इस मसले पर कुछ भी बोलने से इनकार कर दिया। उन्होंने कहा कि सिविल कोड का मसला धार्मिक नेताओं पर छोड़ देना चाहिए।  बतौर रक्षामंत्री अपने कार्यकाल की तारीफ करते हुए उन्होंने कहा कि उनके बिना समाजवादी पार्टी की सरकार बनने के बारे में सोचा भी नहीं जा सकता था।

 




>